Friday, June 18, 2010

धर्मं की आड़ में नशे का सौदा

वो साधू के वेश में शैतान निकला.......लोग उसे पूजते थे और वह उन्हें मौत बांटता था....... वो धर्म की आड़ में नशे का सौदा कर रहा था.......लेकिन कहते है कि हर बुराई का कभी न कभी अंत होता है और बुरे काम करने वाले को सजा भी जरूर मिलती है..... जबलपुर के मौनी बाबा भगवा वस्त्रों की आड़ में भी पंद्रह साल से स्मेक और ब्राउन शुगर बेचते थे पर किसी को उन पर शक नहीं हुआ......पर आज वे पकडे गए और भगवा के पीछे छिपा उनका काला चेहरा सबके सामने आ गया।पुलिस ने उन्हें उत्तर प्रदेश के दो लोगों के साथ ब्राउन शुगर का सौदा करते रंगे हाथ पकड़ा. उनके पास से आधा किलो ब्राउन शुगर पकड़ी गयी. ये मौनी बाबा अपनी मौन तपस्या के कारण जबलपुर के साथ आस-पास के इलाकों में भी पूजे जाते थे लेकिन आज उनकी सारी पोल खुल गई ....मृत्युंजय महाराज उर्फ़ मौनी बाबा नशे के बहुत बड़े सौदागर निकले...पुलिस ने उन्हें आधा किलो ब्राउन शुगर के साथ उस वक्त रंगे हाथ पकड़ा जब वो इलाहाबाद से आये दो लोगो से उसे खरीदने का सौदा कर रहे थे.

1 comment:

Ratan Singh Shekhawat said...

फिर भी इनके अनुयायी कहेंगे कि उनके बाबा को फसाया गया है और समर्थन के लिए रैलियां तक निकालने लगेंगे |